vini ias logo

Register

Get App

UPSC : Mains Syllabus :मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम

By viniias.com

Published on:


UPSC : Mains Syllabus :मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम
UPSC : Mains Syllabus :मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम


 संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा मुख्य परीक्षा का पाठ्यक्रम इस प्रकार हैं —


  • मुख्य परीक्षा कुल 1750 अंकों की होती है जिसमें 1000 अंक सामान्य अध्ययन के लिए, 500 अंक एक वैकल्पिक विषय के लिए तथा 250 अंक निबंध के लिए निर्धारित हैं।
  • इसके अलावा 300 -300 अंकों के दो प्रश्नपत्र [अंग्रेजी तथा भारतीय भाषा (हिंदी या कोई अन्य भाषा) होते हैं जो क्वालीफाइंग प्रकृति के होते हैं ।
  • क्वालीफाइंग प्रकृति के दोनो प्रश्रपत्र में न्यूनतम अर्हता अंक 25% ( 75) निर्धारित किए गए हैं।

आईएएस मुख्य परीक्षा की वर्तमान पाठक्रम इस प्रकार है – 


मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम


💁 ध्यान दें :

  • दोनों क्वालिफाइंग प्राकृति के प्रश्नपत्रों के अंक , योग्यता निर्धारण के लिए नहीं जोड़ा जाता हैं।


   सामन्य अध्ययन (मुख्य परीक्षा) : पाठ्यक्रम 


सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र – 1

[ भारती विरासत और संकृति, विश्व का इतिहास एवं भूगोल और समाज के प्रश्न ]
  • भारतीय संस्कृति में प्राचीन काल से आधुनिक काल तक के कला के रूप, साहित्य और वास्तुकला के मुख्य पहलू के प्रश्न भी शामिल होंगे।
  • 18वीं सदी के लगभग मध्य से लेकर वर्तमान समय तक का आधुनिक भारतीय इतिहास – महत्वपूर्ण घटनाएं, व्यकित्व, विषय।
  • स्वतंत्रता संग्राम – इसके विभिन चरण और देश के विभिन्न भागों से इसमें अपना योगदान देने वाले महत्वपूर्ण व्यक्ति/उनका योगदान।
  • स्वंत्रता के पश्चात देश के अंदर एकीकरण और पुनर्घटन का प्रश्र। 
  • विश्व के इतिहास में 18वीं सदी तथा बाद की घटनाएं यथा – औद्योगिक क्रांति , विश्व युद्ध, राष्ट्रीय सिमायो का पुनः सिमाकन, उपनिवेशवाद, उपनिवेशवाद की समाप्ति, राजनीतिक दर्शन जैसे – साम्यवाद, पुंजीबाद, समाजवाद आदि शामिल होंगे, उनके रूप और समाज पर उनका प्रभाव के प्रश्न।
  • भारतीय समाज की मुख्य विशेषताएं, भारत की विविधता के प्रश्न।
  • महिलाएं की भूमिका और महिला संगठन, जनसंख्या एवं संबंध मुद्दे, गरीबी और विकासात्मक विषय, शहरीकरण, उनकी समस्याएं और उनके रिक्षोपाय।
  • भारतीय समाज पर भूमंडलीकरण का प्रभाव।
  • सामाजिक सशक्तिकरण, संप्रदायवाद, क्षेत्रवाद और धर्मनिरपेक्षता।
  • विश्व के भौतिक भूगोल की मुख्य विशेषताएं।
  • विश्व भर के मुख्य प्राकृतिक संसाधनों का वितरण (दक्षिण एशिया और भारतीय उपमहाद्वीप को शामिल करते हुए ) विषय (भारत सहित) के विभिन्न भागों में प्राथमिक, द्वितीयक और तॄतीयक क्षेत्र के उद्योगों को स्थापित करने के लिए जिम्मेदारी कारक।
  • भूकंप, सुनामी, ज्वालामुखीय हलचल, चक्रवात, आदि जैसे महत्वपूर्ण भू – भौतिकीय घटनाएं, भौगोलिक विशेषताएं और उनके स्थान – अति महत्वपूर्ण भौगोलिक विशेषताएं ( जल-श्रोत और हिमावरण सहित) और वनस्पति एवं प्राणिजगत में परिवर्तन और इस प्रकार के परिवर्तनों के प्रभाव। 

सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र – 2

[ शासन व्यवस्था, संविधान, शासन प्रणाली, सामाजिक न्याय तथा अंतर्राष्ट्रीय संबंध के प्रश्न]
  • भारतीय संविधान – ऐतिहासिक आधार, विकास, विशेषताएं, संशोधन, महत्वपूर्ण प्रावधान और बुनियाद सरंचना।
  • संघ एवं राज्यों के कार्य उत्तरदायित्व, संघीय ढांचे से संबंधित विषय एवं चुनौतियां, स्थानीय स्तर पर शक्तियों और वित्त का हस्तांतरण और उसकी चुनौतियां।
  • विभिन्न घटकों के बीच शक्तियों का पृथक्करण, विवाद निवारण तंत्र तथा संस्थान के प्रश्न।
  • भारतीय संवैधानिक योजना की अन्य देशों के साथ तुलना के प्रश्न।
  • सांसद और राज्य विधायक – सरंचना, कार्य, कार्य-संचालन, शक्तियां एवं विशेषाधिकार और इनसे उत्पन्न होने वाले विषय।
  • कार्यपालिका और न्यायपालिका की सरंचना, संगठन और कार्य-सरकार के मंत्रालय एवं विभाग, समूह और औपचारिक/अनौपचारिक संघ तथा शासन प्रणाली में उनकी भूमिका।
  • जन प्रतिनिधित्व अधिनियम की मुख्य विशेषताएं।
  • विभिन्न संवैधानिक पदों पर नियुक्ति और विभिन्न समवैधानिक निकायों की शक्तियां, कार्य और उत्तरदायित्व के प्रश्न।
  • संविधिक, विनियामक और विभिन्न अर्द्ध-न्यायिक निकाय।
  • सरकारी नीतियों और विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिए हस्तक्षेप और उनके अभिकल्पन तथा कार्यान्वयन के कारण उत्पन्न विषय पर प्रश्न।
  • विकास प्रक्रिया तथा विकास उद्योग- गैर सरकारी संगठनों, स्वयं सहायता समूहों, विभिन्न समूहों और संघों, दानकार्त्तयो, लोकोपकारी संस्थायो, संस्थागत एवं अन्य पक्षों की भूमिका।
  • केंद्र और राज्यों के द्वारा जनसंख्या के अति संवेदनशील वर्गों के लिए कल्याणकारी योजनाएं और इन योजनाओं का कार्य निष्पादन; इन अति संवेदनशील वर्गों की रक्षा एवं बेहतरी के लिए गठित तंत्र, विधि, संस्थान एवं निकाय के प्रश्न।
  • स्वास्थ्य, शिक्षा, मानव संसाधनों से संबंधित सामाजिक क्षेत्र/सेवाओं के विकास और प्रबंधन से संबंधित विषय पर प्रश्न।
  • गरीबी एवं भूख से संबंधित विषय पर प्रश्न।
  • शासन व्यवस्था, पारदर्शीता और जवाबदेही के महत्वपूर्ण पक्ष, ई गवरेंस अनुप्रयोग, मॉडल, सफलताएं, सीमाएं और संभावनाएं, नागरिक चार्टर, पारदर्शीता एवं जवाबदेही और संस्थागत तथा अन्य उपाय।
  •  लोकतंत्र में सिविल सेवायाओ की भूमिका।
  • भारत एवं इसके पड़ोसी संबंध।
  • द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैशविक समूह और भारत से संबंधित और/अथवा भारत के हितों को प्रभावित करने वाले करार।
  • भारत के हितों पर विकसित तथा विकासशील देशों की नीतियां तथा राजनीति का प्रभाव; प्रवासी भारतीय।
  • महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संस्थान, संस्थाएं और मंच उनकी सरंचना, अधिदेश के प्रश्न।


सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र – 3
 
[ प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा तथा आपदा प्रबंधन का प्रश्न ]

  • भारतीय अर्थव्यस्था तथा योजना, संसाधनों को जुटाने, प्रगति, विकास तथा रोजगार से संबंधित विषय के प्रश्न।
  • समावेशी विकास तथा इसमें उत्पन्न विषय के प्रश्न।
  • सरकारी बजट।
  • मुख्य फसलें – देश के विभिन्न भागों में फसलों का पैटर्न सिंचाई के विभिन्न प्रकार और सिंचाई प्रणाली कृषि उत्पाद का भंडारण, परिवहन तथा विपणन, संबंधित विषय और बाधाएं; किसानों की सहायता के लिए ई – प्रौद्योगिकी।
  • प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष कृषि सहायिकी तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य से संबंधित विषय; जन वितरण प्रणाली- उद्देश्य, कार्य, सीमाएं, सुधार; बफर स्टॉक तथा खाद्य सुरक्षा संबंधी विषय; प्रौद्योगिकी मिशन; पशुपालन संबंधी अर्थशास्त्र।
  • भरता में खाद्य प्रसंस्करण एवं संबंधित उद्योग – कार्यक्षेत्र एवं महत्व, स्थान, ऊपरी और नीचे की अपेक्षाएं, आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन।
  • भारत में भूमि सुधार।
  • उदारीकरण का अर्थव्यवस्था पर प्रभाव, प्रौद्योगिकी नीति में परिवर्तन तथा प्रौद्योगिक विकास पर इनका प्रभाव।
  • बुनियादी ढांचा: ऊर्जा, बंदरगाह, सड़क, विमानपतन, रेलवे आदि।
  • निवेश मॉडल।
  • विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी – विकास एवं अनुप्रयोग और रोजमर्र के जीवन पर इसका प्रभाव पर प्रश्न।
  • विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में भारतीयों की उपलब्धियां; देशज रूप से प्रौद्योगिकी का विकास और नई प्रौद्योगिकी का विकास पर प्रश्न।
  • सूचना प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष, कंप्यूटर, रोबोट्स, नैनो-  टेक्नोलॉजी, बायो-टेक्नोलॉजी और बौद्धिक संपदा अधिकारों से संबंधित विषयों के संबंध में जागरूकता पर प्रश्न।
  • सरंक्षण, पर्यावरण प्रदूषण और क्षरण, प्रार्यवरणीय प्रभाव आकलन पर प्रश्न।
  • आबादा और अबदा प्रबंधन।
  • विकास और फैलते उग्रवाद के बीच संबंध।
  • आंतरिक सुरक्षा के लिए चुनौती उत्त्पन्न करने वाले शासन विरोधी तत्वों की भूमिका पर प्रश्न।
  • संचार नेटवर्क के माध्यम से आंतरिक सुरक्षा को चुनौती, आंतरिक सुरक्षा चुनौतियां में मीडिया और सामाजिक नेटवर्किंग साइटों की भूमिका, साइबर सुरक्षा की बुनियादी बातें, धन – शोधन और इसे रोकना।
  • सीमावर्ती क्षेत्रों में सुरक्षा चुनौतियां एवं उनका प्रबंधन – संगठित अपराध और अतंकबाद के बीच संबंध।
  • विभिन्न सुरुक्षा बल और संस्थाएं तथा उनके अधीदेश पर प्रश्न।


सामान्य अध्ययन – 4

[ नीतिशास्त्र, सत्यनिष्ठा और अभिरुचि ]

  • नीतिशास्त्र तथा मानवीय सह – संबंध; मानवीय क्रियाकलापों में नीतिशास्त्र का सार तत्व, इसके निर्धारिक और परिणाम; नीतिशास्त्र, मानवीय मूल्य – महान नेताओं, सुधारकों और प्रशंसकों के जीवन तथा उनके उपदेशों से शिक्षा; मूल्य विकसित करने में परिवार, समाज और शैक्षणिक संस्थानों की भूमिका पर प्रश्न।
  • अभिवृति: सारांश ( कंटेंट) , संरचना, वृति; नैतिक और राजनीतिक तथा अभिवृति प्रभाव और धारणा।
  • सिविल सेवा के लिए अभिरुचि तथा बुनियादी मूल्य – सत्यनिष्ठा, भेदभाव, रहित तथा गैर – तरफदारी, निरपेक्षता, सार्वजनिक सेवा के प्रति समर्पण भाव, कमजोर वर्गों के प्रति समानुभूति, सहिष्णुता तथा संवेदना।
  • भावनात्मक समझ: अवधारणा तथा प्रशासन और शासन व्यवस्था में उनकी उपयोगिता और अनुप्रयोग।
  • भारत तथा विश्व के नैतिक विचारकों तथा दर्शनिकों के योगदान पर प्रश्न।
  • लोक प्रशासन में लोक/सिविल सेवा मूल्य तथा नीतिशास्त्र:  स्थिति  तथा समस्याएं ; नैतिक मार्गदर्शन के निजी संस्थानों में नैतिक चिंताएं तथा सुविधाएं; अंतरात्मा; उत्तरदायित्व तथा नैतिक शासन, शासन व्यवस्था में नीतिपरक  तथा नैतिक मूल्यों का सुदृढ़ीकरण; अंतर्राष्ट्रीय संबंधों तथा निधि व्यवस्था ( फीडिंग) में नैतिक मुद्दे; कॉरपोरेट शासन व्यवस्था।
  • शासन व्यवस्था में ईमानदारी: लोक सेवा की अवधारणा; शासन व्यवस्था और ईमानदारी का दार्शनिक आधार, सरकार में सूचना का आदान-प्रदान और पारदर्शिता, सूचना कबाधिकार, नीतिपरक आचार संहिता, आचरण संहिता, नागरिक घोषणा पत्र, कार्य संस्कृति, सेवा प्रदान करने की गुणवत्ता, लोक निधि का उपयोग, भ्रष्टाचार की चुनौतियां पर प्रश्न।
  • उपर्युक्त विषय पर मामला संबंधी अध्ययन (केस स्टडीज)।

 


💁500 अंक एक वैकल्पिक विषय के लिए अंक के लिए निर्धारित हैं।

मुख्य परीक्षा के लिए वैकल्पिक विषयों की सूची निम्लिखित है: –


OPTIONAL PAPER




💁 क्वालीफाइंग विषय (Qualifying Subject) :

हिंदी या संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल कोई एक भाषा 

  • इस पेपर का पूर्णांक 300 है जिसमे क्वालीफाइंग अंक 75 (25%) निर्धारित किया गया है। प्रश्नों का पैटर्न मोटे तौर पर निम्नानुसार होगा –
  1. बोधगम्यता
  2. संक्षिप्त लेखन
  3. शब्द प्रयोग व शब्द भंडार
  4. लघु निबंध
  5. अंग्रेजी से भारतीय भाषा तथा भारतीय भाषा से अंग्रेजी में अनुवाद अर्थात (Translations )

अंग्रेजी भाषा

  • इस पेपर का पूर्णांक 300 है जिसमे क्वालीफाइंग अंक 75 (25%) निर्धारित किया गया है। प्रश्नों का पैटर्न मोटे तौर पर निम्नानुसार होगा –
  1. Comprehension Of given Passages (बोधगम्यता)
  2. Precis Writing (संक्षिप्त लेखन)
  3. Usage and Vocabulary (शब्द प्रयोग व शब्द भंडार)
  4. Short Essay (लघु निबंध)


ध्यान दें:

इन प्रश्नों में प्राप्त अंकों को योग्यता क्रम निर्धारित करने में नहीं गिना जाएगा, लेकिन इन दोनों क्वालिफाइंग विषय में कम से कम 25% यानी 75 अंक लाना अनिवार्य हैं।

निबंध : एक परिचय

  1. निबंध प्रश्नपत्र दो खंडों में बांटे होते है। प्रत्येक खंड में 4 -4 विषय दिए होते है और परीक्षार्थियों को इन दोनो खंडों में से एक – एक विषय पर निबंध लिखना होता है।
  2. प्रत्येक निबंध के लिए शब्द सीमा 1000 से 1200 शब्द निर्धारित की गई है।
  3. और प्रत्येक निबंध प्रश्नपत्र कुल 250 अंको का होता हैं।

Read More

प्रारंभिक परीक्षा पाठ्यक्रम: https://viniias.blogspot.com/2021/11/blog-post_26.html




UPSC : Mains Syllabus :मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम
UPSC : Mains Syllabus :मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम

viniias.com

VINI IAS is a Best Educational Platform For Govt Exams. Here We will provide you Online Courses, Books, Govt Exams Guidance, Notes & E-books, Video Lecture And Some Study Material - Join Us Today

Related Post

आज जान लीजिए की IAS टॉपर नोट्स कैसे बनाते है एवं तैयार करते है : Some Tips For IAS Notes Writting

 आज जान लीजिए की IAS टॉपर नोट्स कैसे बनाते है एवं तैयार करते है : Some Tips For IAS Notes Writting  मेरे प्यारे साथियों आप सभी के लिए ...

IAS Mains अचूक रणनीति : UPSC Mains Strategy

 IAS Mains अचूक रणनीति : UPSC Mains Strategy  दोस्तों हमने पिछले ब्लॉग में UPSC प्रीलिम्स के अचूक रणनीति के बारे में चर्चा किए थें, और आज हम UPSC ...

IAS प्रीलिम्स अचूक रणनीति : UPSC Prelims Strategy

 IAS प्रीलिम्स अचूक रणनीति : UPSC Strategy  दोस्तों हमने पिछले ब्लॉग में UPSC मेन्स के अचूक रणनीति के बारे में चर्चा किए थें, और आज हम UPSC प्रीलिम्स ...

IAS UPSC HINDI MEDIUM NOTES :

  विकास सर के द्वारा लिखा गया नोट्स जल्दी ऑर्डर करें मात्र ₹99 UPSC की तैयारी के लिए आपको बेहतर नोट्स होना जरूरी होता है, इसीलिए मैं आपके ...

Leave a Comment